व्हीलचेयर क्या है इसकी विषमता को तोड़ा पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने।

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार :संसद के राज्यसभा में पूर्व पीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डॉ. मनमोहन सिंह पहुंचे. वे व्हीलचेयर पर बैठे थे. बता दें कि लोकसभा से पास होने के बाद राज्यसभा में दिल्ली सर्विस बिल पर चर्चा होनी थी. इसके लिए विपक्षी गठबंधन ‘INDIA’ के सभी राज्यसभा सांसद सदन में मौजूद थे. हालांकि, इस दौरान विपक्ष के साथ-साथ दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को झटका लगा क्योंकि राज्यसभा में भी यह बिल पास हो गया. विपक्ष इस बिल के खिलाफ था. आपको बता दें कि पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की उम्र करीब 90 साल है. वे आजकल अस्वस्थ भी चल रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद भी वे एक लंबे समय के बाद राज्यसभा में पहुंचे. मनमोहन सिंह व्हीलचेयर पर सदन पहुंचे थे. सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली सरकार (संशोधन) विधेयक 2023 पर राज्यसभा के मानसून सत्र में चर्चा होनी थी. इसके लिए कांग्रेस ने अपने सभी सांसदों को व्हिप जारी किया था. इसके साथ ही पार्टी ने अस्वस्थ राज्यसभा सांसदों के लिए सदन जाने को लेकर एम्बुलेंस की भी व्यवस्था की थी. विपक्ष की पूरी कोशिश थी कि राज्यसभा में दिल्ली सर्विस बिल को पास नहीं होने देना है, लेकिन उनकी मेहनत बेकार गई. राज्यसभा में भी यह बिल पास हो गई. इस दौरान बिल के पक्ष में 131 तो विपक्ष में 102 वोट पड़े. सदन के राज्यसभा में काफी गहमागहमी दिखी. इस दौरान दिल्ली सर्विस बिल को लेकर पक्ष-विपक्ष में तीखी चर्चा भी हुई. आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने कहा,”बीजेपी ने अटल बिहारी वाजयेपी, लाल कृष्ण आडवाणी की दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने की 40 साल की मेहनत को मिट्टी में मिला दिया है. उन्होंने इतने साल तक दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के लिए संघर्ष किया था.” वहीं, उद्धव गुट के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि जो भी दिल्ली सेवा बिल के समर्थन में वोट करेंगे, वो भारत माता के साथ बेईमानी करेंगे पीएम मोदी ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के विदाई भाषण में आज दिल खोलकर रख दिया। उन्होंने कहा कि वैचारिक मतभेद तो अल्पकालीन होता है। पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने इतने लंबे समय तक सदन का मार्गदर्शन किया है। देश का मार्गदर्शन किया है। पीएम मोदी ने कहा कि हमेशा जब भी हमारे लोकतंत्र की चर्चा होगी तो उसमें कुछ माननीय सदस्यों की भी चर्चा होगी। उसमें मनमोहन सिंह के योगदान की चर्चा जरूर होगी। मैं सभी सांसदों से चाहे वो इस सदन में हो या निचले सदन में या जो फिर सदन में आने वाले हैं। पूर्व पीएम मनमोहन ने जिस प्रकार से देश जीवन को कंडक्ट किया है। जिस प्रकार की प्रतिभा के दर्शन उन्होंने अपने कार्यकाल में कराए। उसको हम लोग सीखने का प्रयास कर रहे हैं पीएम मोदी ने लोकसभा में दिल्ली सर्विस बिल पर चर्चा का जिक्र करते हुए पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की मौजूदगी का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि लोकसभा में एक वोटिंग का अवसर था। उन्हें पता था कि विजय सत्तारूढ़ दल की होने वाली है। अतंर भी बहुत था लेकिन डॉ मनमोहन सिंह वीलचेयर पर आए और वोट किया। एक सांसद अपने दायित्य के लिए कितना सजग है उसका वो उदाहरण है। वो प्रेरक उदाहरण है। पीएम मोदी ने कहा कि पूर्व पीएम मनमोहन सिंह कमिटी के चुनाव थे और वीलचेयर पर वोट देने आए। उन्होंने कहा कि सवाल ये नहीं कि वो किसके ताकत देने कि लिए आऐ थे मैं मानता हूं कि वो लोकतंत्र को ताकत देने आए थे। इसलिए आज विशेष रूप से उनके दीर्घायु के लिए हम सबकी तरफ से प्रार्थना करता हूं। वो निरंतर हमारा मार्गदर्शन करते रहें हमें प्रेरणा देते रहें।पीएम नरेंद्र मोदी ने आज राज्यसभा में देश के पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की जमकर तारीफ की। गौरतलब है कि राज्यसभा के 56 सदस्यों का कार्यकाल 2 और 3 अप्रैल को खत्म हो रहा है। लोकसभा चुनाव से पहले ये संसद का आखिरी सत्र है ऐसे में पीएम मोदी ने आज सभी रिटायर हो रहे सदस्यों को शुभकामना दी। हालांकि, अपने भाषण में उन्होंने अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह को जमकर सराहा। पूर्व पीएम का कार्यकाल भी समाप्त हो रहा है सौरभ कहना है कि इससे हमें क्या सीख मिलती है मनमोहन सिंह पूर्व प्रधानमंत्री को शायद पता है व्हीलचेयर का दर्द भारत को अपने पूर्व प्रधानमंत्री से प्रेरणा लेना चाहिए की किस प्रकार वह अनेक बीमारी से जूझते हुए व्हीलचेयर पर बैठकर अपने देश के प्रति समर्पित है एवं अपने देश और देशवासियों के प्रति सच्ची निष्ठा रखते उन्होंने किस प्रकार से आर्थिक तंगी से देश को को निकाल यह सभी जानते हैं प्रतिभा कभी परिचय का मोहताज नहीं होता है जो दिव्यांग व्हीलचेयर पड़ जाने के बाद निराश हो जाते हैं उनके लिए एक प्रेरणा की कहानी है पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह।

Check Also

अस्पताल के नाम पर घोटाला का अर्थ क्या है?

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार :राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अन्तर्गत इमरजेंसी कोविड रेस्पांस …