दिव्यांग रेलवे पास ऑनलाइन नहीं बनेगा दिव्यांगों के लिए ।

सर्वप्रथम न्यूज सौरभ कुमार : दिव्यांगों को रेलवे में टिकट पर concession मिलता है रेलवे में टिकट पर concession लेने के लिए दिव्यांग के लिए प्रमाण पत्र बनाया जाता है इस प्रमाण पत्र को बनाने के लिए दिव्यांग को अपने नजदीकी सदर अस्पताल में जाकर वहां के सिविल सर्जन से बनवाना पड़ता है लेकिन दुर्भाग्य किसी स्टेशन पर मान्यता मिलता है और किसी स्टेशन पर मान्यता नहीं मिलता। रेलवे इस कमियां को दूर करने के लिए ऑनलाइन टिकट बनवाने के लिए रेलवे ने आईडी बनाने का प्रावधान किया। इसे बनाने के लिए दिव्यांग को डीआरएम ऑफिस जाना पड़ता है इस ऑफिस में। दिव्यांगों को इस आईडी बनाने के लिए कई बार चक्कर काटना पड़ता है।बहुत से दिव्यांग ऑफिस के चक्कर काटते काटते थक हार जाते थे और इस आईडी से वह वंचित हो जाते थे।मैं सौरभ कुमार तोशियास सचिव इस कठिनाइयों को दूर करने के लिए रेलवे विभाग से ई पोर्टल का निर्माण करवाया।लेकिन रेलवे ने ई पोर्टल तो तैयार कर दिया परंतु भारत के कई राज्यों का साथ ही साथ बिहार के राज्यों के दिव्यांग भी इस पोर्टल का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। यानी इस पोर्टल से कई राज्यों के दिव्यांग इस लाभ से वंचित हो रहे हैं।सरकार बिहार राज्यों के दिव्यांगों के बीच भेदभाव कर रहे हैं। इस तरह सरकार की नीति कब तक चलेगी दिव्यांग समाज को इस बात को समझाना पड़ेगा सरकार को यह दिखाना पड़ेगा कि हम भारत देश के दिव्यांग एक है एक थे और एक रहेंगे।मैं अह्वान करता हूं दिव्यांग समाज से की। अब तो दिव्यांग समाज जागरूक हो अपने संवैधानिक अधिकार के प्रति।

https://divyangjanid.indianrail.gov.in/member-registration

Check Also

हीमोफीलिया बीमारी से क्या होता है।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज सौरभ कुमर : बिहार में विश्व हीमोफीलिया दिवस मनाया जाता …