दिव्यांग क्या करता है दिव्यांग का मतलब क्या होता है?

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : लंदन. एक बार जब कोई इंसान व्हीलचेयर पर पहुंच जाता है तो उसके हौसले निश्चित रूप से कमजोर पड़ जाते हैं. फिर भी ब्रिटेन में एक ऐसा इंसान है जो विकलांग होने के बावजूद व्हीलचेयर पर बैठकर ही 10 टन वजन के दो ट्रकों को खींच लेता है. अब डेविड वॉल्श की इच्छा दुनिया के सबसे ताकतवर विकलांग का खिताब जीतने की है. उनको उम्मीद है कि इस साल वह निश्चित रूप से विश्व के सबसे ताकतवर विकलांग इंसान का खिताब अपने नाम करने में सफल हो सकते हैं.तीन बच्चों के पिता डेविड वॉल्श को 2012 में मल्टीपल स्केलेरोसिस (multiple sclerosis) का पता चला था. सिर्फ पांच साल बाद जब उन्होंने स्ट्रॉन्गमैन प्रतियोगिताओं में प्रतिस्पर्धा शुरू करने का फैसला किया तो उनको कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा. वॉल्श ने 2016 में सेना छोड़ने के बाद स्ट्रॉन्गमैन प्रतियोगिताओं के लिए प्रशिक्षण शुरू हुआ. उस समय से यह उनके जीवन जीने का एक ढर्रा बन गया है. वॉल्श ने कहा कि मैंने एक जिम ज्वाइन किया और वास्तव में इस अभ्यास के दौरान किए जाने वाले कामों का भरपूर आनंद लिया. स्ट्रॉन्गमैन प्रतियोगिताओं में हिस्सेदारी के लिए अभ्यास से मुझे वास्तव में कुछ ऐसा मिला, जो मुझे पसंद आया.वॉल्श ने बताया कि उन्हें एक पूर्व सैनिक ने स्ट्रॉन्गमैन प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने के लिए प्रेरित किया था. वाल्श ने अपनी पहली विकलांग स्ट्रॉन्गमैन प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और साउथ इंग्लैंड के सबसे मजबूत विकलांग व्यक्ति का खिताब जीतने के साथ ही ब्रिटेन के सबसे मजबूत विकलांग इंसान की प्रतियोगिता में वे तीसरे स्थान पर रहे. 2020 में, उन्होंने विश्व के सबसे मजबूत विकलांग इंसान की प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और दूसरे स्थान पर रहे. इस साल, उनको उम्मीद है कि वे पहले स्थान पर रहेंगे.वाल्श को 2014 में एक प्रशिक्षण सत्र के दौरान पता लगा कि उनका दाहिना हाथ सुन्न हो गया है. उनके शरीर के बाकी हिस्सों में सुन्नता फैलने के बाद वाल्श को नहीं पता था कि उनके जीवन आगे क्या होने जा रहा है. फिर भी वर्षों के अभ्यास और प्रशिक्षण के बाद वॉल्श ने अब अपनी ताकत को मजबूत किया है और जरूरी तकनीकी जानकारी हासिल कर ली है. वाल्श माल ढुलाई प्रबंधन में भी काम करते हैं. वॉल्श ने बताया कि विकलांग होने के बाद उस कमजोरी से निपटने में उनको कुछ साल लग गए. फिर भी अपनी हिम्मत से उन्होंने विकलांगता को मात देने में सफलता हासिल कर ली।

Check Also

आवश्यक सूचना दिव्यांगों के लिए दिव्यांग अधिकार अधिनियम 2016 के अंतर्गत।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार :पटना मुख्यमंत्री दिव्यांगजन सशक्तीकरण छत्र योजना का …