यूनिवर्सल सोशल सिक्योरिटी योजना के तहत 50 करोड़ कामगारों को मोदी सरकार देगी सामाजिक सुरक्षा

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार पटना: मोदी केयर योजना के तहत 50 करोड़ लोगों को स्वास्थ्य बीमा कवर देने के बाद अब मोदी सरकार की निगाहें कामगारों पर है। लोकसभा चुनाव में पूरे दमखम के साथ उतरने की तैयारियों में जुटी मोदी सरकार अब यूनिवर्सल सोशल सिक्योरिटी योजना लाने की तैयारी में है। इस योजना के तहत देश के 50 करोड़ कामगारों को पेंशन, मेडिकल कवर, बेरोजगारी भत्ता जैसी दर्जन भर अहम सुविधा उपलब्ध कराने की रणनीति बनाई है। इससे संबंधित श्रम मंत्रालय के प्रस्ताव को प्रधानमंत्री कार्यालय ने हरी झंडी दे दी है। अब श्रम और वित्त मंत्रालय इस योजना की जल्द घोषणा करने की तैयारियों में जुटी है।
पीएमओ द्वारा स्वीकृति प्रस्ताव में देश के 40 फीसदी कामगारों को इस योजना का सीधा तो शेष 60 फीसदी कामगारों को आंशिक लाभ होगा। इस योजना पर दो लाख करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। योजना का लाभ कृषि क्षेत्र से जुड़े कामगारों को भी मिलेगा। इसके तहत लाभार्थियों को निश्चित पेंशन, बेरोजगारी भत्ता, मैटरनिटी, मेडिकल, विकलांग भत्ता, पीएफ, ग्रुप इंश्योरेंस, आश्रितों को लाभ सहित कुछ अन्य सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। मसौदे में गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे परिवारों को खासतौर से इस योजना से जोडने का प्रावधान है। चूंकि लोकसभा चुनाव अगले ही साल है।
श्रम मंत्रालय के प्रस्ताव में इस योजना के लिए हर राज्य में सामाजिक सुरक्षा फंड बनाने और इसमें पीएफ सहित अन्य सुविधाओं से जुड़े फंड को शामिल करने का प्रावधान है। सरकार की योजना चुनाव से पूर्व बीपीएल परिवारों के अधिकांश हिस्से को इस योजना का लाभ देने की है। ऐसे में इस योजना की जल्द घोषणा के लिए श्रम और वित्त मंत्रालय लगातार माथापच्ची कर रहा है। गौरतलब है कि एक लाख करोड़ की मोदी केयर योजना के तहत चुनाव से पहले इसका लाभ 10 करोड़ गरीब परिवारों को देने की है।

Check Also

आयुष्मान कार्ड नहीं है फिर भी क्या हम मुफ्त इलाज ले सकते हैं।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : आयुष्मान कार्ड जो दिव्यांगों के पास नहीं …