दिव्यांग अब वोटर लिस्ट में ऑनलाइन नाम दर्ज कराना या दुरुस्त कराना आसान

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : दिव्यांग राष्‍ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल https://www.nvsp.in/ और मतदाता हेल्‍पलाइन ऐप का अनावरण करने के बाद मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त सुनील अरोड़ा ने कहा कि भारतीय निर्वाचन आयोग की आधारशीला मतदाता सूची है

  • मतदाता सूची में सुधार के लिए इलेक्टर वेरिफिकेशन प्रोग्राम शुरू
  • मतदाता विवरणों को सत्यापन के लिए वन स्टॉप सॉल्यूशन

पूरे देश में इलेक्‍टर वेरिफिकेशन प्रोग्राम के मेगा मिलियन लॉन्‍च के अवसर पर रविवार को भारतीय निर्वाचन आयोग के मुख्‍यालय में विशेष कैंप के साथ देश भर में मतदाता सत्यापन अभियान की शुरुआत हुई. राष्‍ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल (https://www.nvsp.in/) और मतदाता हेल्‍पलाइन ऐप का अनावरण करने के बाद मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त सुनील अरोड़ा ने कहा कि भारतीय निर्वाचन आयोग की आधारशीला मतदाता सूची है.

निर्वाचन आयुक्‍त ने कहा, मैं देश के सभी नागरिकों से आग्रह करता हूं कि वह सत्‍यापन कार्यक्रम में शामिल हों जिससे आयोग आने वाले सभी चुनावों के दौरान बेहतर मतदात सेवाएं दे सके. वहीं मतदाता सूची सत्यापन के बारे में चुनाव आयुक्‍त अशोक लवासा ने कहा कि यह एक महत्‍वपूर्ण अवसर है, जब सभी मतदाता अपने ब्‍यौरों को सत्‍यापित और प्रमाणित कर सकते हैं. इस कार्यक्रम की सफलता लोगों की भागीदारी पर निर्भर है.

उन्होंने कहा, मैं सभी लोगों से आग्रह करता हूं कि वह आगे आएं और त्रुटिहीन मतदाता सूची सुनिश्चित करें, क्‍योंकि यह मतदान प्रक्रिया का हृदय है. आयोग के मुताबिक इस अभियान का मुख्‍य उद्देश्‍य मतदाता सूची को बेहतर बनाना है. इससे नागरिकों को बेहतर मतदात सेवाएं दी जा सकेंगी. आयोग ने देश भर में 32 सीईओ के जरिए राज्‍यों/केंद्र शासित प्रदेशों में 700 डीईओ ने जिलों में और लगभग 10 लाख मतदान केंद्रों में बीएलओ/ईआरओ ने देश में सभी स्‍तरों पर इस कार्यक्रम की शुरुआत की है जो 1 सितंबर, 2019 से 15 अक्‍टूबर 2019 तक चलेगा

इस अभियान के दौरान सभी मतदाता एनवीएसपी पोर्टल (nvsp.in) या मतदाता हेल्‍पलाइन ऐप या साझा सेवा केंद्रों या निकट के किसी मतदान सुविधा केंद्र पर जाकर सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं. आयोग के मुताबिक मतदाता सूची में कोई भी नागरिक वर्तमान विवरणों की जांच और सुधार के लिए इन दस्‍तावेजों के जरिए सत्‍यापन करा सकते हैं.

इसके लिए पहचान और सत्यापन के लिए तय दस दस्तावेज ये हैं…

1- भारतीय पासपोर्ट

2- ड्राइविंग लाइसेंस

3-आधार कार्ड

4- राशन कार्ड

5-सरकारी/अर्द्ध सरकारी कर्मियों का पहचान पत्र

6- बैंक खाता

7- किसान पहचान कार्ड

8- पेन कार्ड

9- आरबीआई द्वारा जारी स्‍मार्ट कार्ड

10- पानी/बिजली/टेलिफोन/गैस कनेक्‍शन का बिल

ब्‍यौरे के प्रमाण और मोबइल नंबर को साझा करने से मतदाताओं को ऑनलाइन आवेदन की स्थिति, ईपीआईसी की स्थिति, मतदान दिवस की घोषणाएं, मतदाता स्लिप आदि से संबंधित जानकारी उनके पंजीकृत ईमेल और मोबाइल नंबर पर दी जाएगी. मतदाता सूची की क्रमसंख्‍या में बदलाव, मतदान केंद्र का ब्‍यौरा बीएलओ/ईआरओ में बदलाव से संबंधित मतदान केंद्र की सभी जानकारी मतदाताओं के साथ साझा की जाएगी.

Check Also

दिव्यांग पति नहीं देगा अपनी अलग रहने वाली पत्नी को गुजारा भत्ता।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कमार : कर्नाटक उच्च न्यायालय ने निचली अदालत के …