एलआईसी असिस्टेंट 2020 बहाली में खुलेआम हो रहा है दिव्यांग अधिनियम 2016 का उल्लंघन

सर्वप्रथम न्यूज़ : एलआईसी असिस्टेंट 2020 में जो दिव्यांगों की नियुक्ति हुई है उस नियुक्ति में दिव्यांग अधिनियम 2016 का खुलेआम उल्लंघन किया गया है अनियमितता निम्नलिखित है-
1. कुल सीट 241 है जिसमें मेंस एग्जाम में दिव्यांगों का रिजल्ट 224 का ही दिया गया है जिसमें 17 सीट पर कोई नियुक्ति नहीं हुई है और यह भी नहीं बताया गया है कि आगे नियुक्ति होगी कि नहीं दिव्यांगों का सीट बैकलॉक में नहीं जाता तो यहां पर दिव्यांग उम्मीदवार के साथ एलआईसी ने पक्षपात किया है और दिव्यांग अधिनियम 2016 का खुलेआम उल्लंघन किया है।
2. पटना में दिव्यांग अधिनियम 2016 के तहत 10 सीट होता है दिव्यांगों का जिसमें 5 सीट पर ही दिव्यांगों की नियुक्ति की गई है और 5 सीट पर नियुक्ति नहीं की गई आधी से ज्यादा सीट का गमन किया गया ।
3. एलआईसी मेंस के रिजल्ट में दिव्यांगों की श्रेणी नहीं दिखाई गई जबकि अन्य सभी आरक्षित वर्ग का श्रेणी स्पष्ट रूप से उल्लेखित है यहां भी दिव्यांग अधिनियम 2016 का खुलेआम उल्लंघन किया गया है।
4. एलआईसी मेंस में दिव्यांग श्रेणी के छात्रों का कट ऑफ मार्क नहीं दिखाया गया यहां भी दिव्यांग अधिनियम 2016 का पालन नहीं किया गया
एवं पूरी बहाली प्रतिक्रिया पूरी कर ली गई है ऐसे में दिव्यांग अधिनियम 2016 का खुलेआम उल्लंघन कर रहा है एलआईसी इस पर तोशियास सचिव सौरभ कुमार ने संबंधित पदाधिकारी से बात की लेकिन अभी तक कोई सकारात्मक जवाब किसी पदाधिकारी के द्वारा प्राप्त नहींं हो इसको लेकर संबंधित विभाग को जवाब तलब किया है सौरभ कुमार ने और समस्या का जल्दद से समाधान करने की बात कही है

Check Also

आयुष्मान कार्ड नहीं है फिर भी क्या हम मुफ्त इलाज ले सकते हैं।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : आयुष्मान कार्ड जो दिव्यांगों के पास नहीं …