सावधान ! कल अप्रैल फूल बनाने पर जा सकते हैं जेल, FIR दर्ज कर पुलिस करेगी कार्रवाई

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : विश्व भर में कोरोना वायरस के कारण तबाही मची हुई है. अब तक पूरे वर्ल्ड में 8 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. जबकि 39 हजार से ज्यादा लोगों ने दम तोड़ दिया है. भारत में भी इसकी स्थिति ख़राब होती जा रही है. पिछले 24 घंटे के भीतर इंडिया में 200 से अधिक नए पॉजिटिव मरीज सामने आये हैं. जिससे भारत में मरीजों की संख्या 1500 के पार हो गई है. जबकि 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. 1 अप्रैल है. यानी कि अप्रैल फूल डे है. लेकिन अगर आप किसी को अप्रैल फूल बनाएंगे तो आप सीधे 6 महीने के लिए जेल जा सकते हैं. दुनिया भर में 1 अप्रैल को अप्रैल फूल डे यानी ‘मूर्ख दिवस’ के तौर पर मनाया जाता है. इसबार अप्रैल फूल मानाने पर आप सीधे 6 महीने के लिए जेल जा सकते हैं. जी हां, ऐसा हम इसलिए बता रहे हैं कि कोरोना वायरस को लेकर सरकार की ओर से विशेष गाइडलाइंस जारी किये गए हैं. कोरोना वायरस से जुडी हुई कोई भी भ्रमित सूचना, वीडियो और फोटो या फिर कोरोना से जुड़ी हुई कोई फेक न्यूज़ फैलाते हैं, तो आपके ऊपर कार्रवाई की जाएगी. अप्रैल फूल के दिन भी अगर आप अपने दोस्त, परिवार या ऑफिस के सहकर्मी के साथ कोरोना से जोड़कर कोई भी मैसेज फैलाने की गलती करते हैं तो आपके ऊपर एफआईआर दर्ज हो सकती है. पुलिस ने लोगों से अपील की है कि यह बेहद गंभीर विषय है.

हिमाचल प्रदेश और महाराष्ट्र में पुलिस ने बाकायदा एडवाइजरी जारी कर सख्त निर्देश दिया है कि  अप्रैल फूल दिवस के अवसर पर कोरोना को लेकर किसी भी व्यक्ति को मुर्ख बनाया जायेगा तो उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी. एडवाइजरी में स्पष्ट किया गया है कि अगर कोविड-19 और लॉकडाउन को लेकर किसी भी तरह की अफवाह फैलाई और मजाक किया तो विधिक कार्रवाई की जा सकती है.

वहीं दूसरी ओर बिहार में कोरोना के 5 नए मरीज सामने आये हैं. जिसमें एक मरीज गया जिले का रहने वाला बताया जा रहा है. जबकि 4 अन्य मरीज सीवान जिले के रहने वाले बताये जा रहे हैं. देश भर में 24 घंटे के अंदर 200 से अधिक पॉजिटिव मरीजों की संख्या में संख्या में इजाफा हुआ है. पटना में एक साथ 5 पॉजिटिव मरीज मिलने से लोगों का टेंशन बढ़ गया है. लोगों के बीच हड़कंप मच गया है. बता दें कि इससे सोमवार को एक भी पॉजिटिव मरीज सामने नहीं आया था. लेकिन मंगलवार को अब तक कुल 6 मरीज सामने आ गए हैं. अब बिहार में मरीजों की संख्या 21 हो गई है. जिसमें से एक मरीज की मौत हो गई है. जबकि 4 अन्य मरीज ठीक भी हुए हैं. जिन्हें घर भेज दिया गया है.

पटना के आईजीआईएमएस जांच केंद्र से इन सभी 4 मरीजों की रिपोर्ट सामने आई है. यहां 36 सैंपल जांच किये गए. जिसमें 4 पॉजिटिव सामने आये हैं. जो सीवान के रहने वाले बताये जा रहे हैं. मिली  जानकारी के मुताबिक आरएमआरआई में कुल 90 लोगों के सैंपल की जांच हुई. जिसमें से एक मरीज की पॉजिटिव रिपोर्ट सामने आई है. जो गया का रहने वाला बताया जा रहा है.

कोरोना के मरीजों की संख्या में हो रहे इजाफे के लिए सरकार ने लोगों को ही जिम्मेदार ठहराया है. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि कोरोना से लड़ाई के लिए हम सबको साथ आना होगा. हमें साथ लड़ना होगा. उन्होंने साथ ही ये भी कहा कि लोगों का समर्थन नहीं मिलने से मामले बढ़ रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि कुछ जगहों पर लोगों का समर्थन नहीं मिलने से ये केस बढ़ें हैं. कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में हम तभी सफल होंगे जब सबका समर्थन मिलेगा. उन्होंने कहा कि लोग लॉकडाउन का समर्थन करें तभी लड़ाई में सफलता मिलेगी.

Check Also

दिव्यांग पति नहीं देगा अपनी अलग रहने वाली पत्नी को गुजारा भत्ता।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कमार : कर्नाटक उच्च न्यायालय ने निचली अदालत के …