दिव्यांगों के लिए संचालित विशेष पाठ्यक्रम

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : देश में दिव्यांगों के लिए विशेष पाठ्यक्रम जो प्रत्येक दिव्यांग का मौलिक और संवैधानिक अधिकार है और जिससे ज्ञान प्राप्त करके दिव्यांग बन सकते आत्मनिर्भर कंप्यूटर एप्लीकेशन में डिप्लोमा आरसी, सिकंदराबाद में पाठयक्रम
विज्ञान परास्नातक (ऑडियोलॉजी, वाक- भाषा
पैथोलॉजी) 2वर्ष

शिक्षा परास्नातक (श्रवण बाधित) 2 वर्ष

बैचलर ऑफ साइंस (ऑडियोलॉजी, बाक- भाषा पैथोलॉजी) 4 वर्ष
विशेष शिक्षा में डिप्लोमा (डीएचएच) 2 वर्ष
बैचलर ऑफ ऑडियोलॉजी, वाक- भाषा पैथोलॉजी 4वर्ष
विशेष शिक्षा में डिप्लोमा (डीएचएच)2 वर्ष
श्रवण, वाक और भाषा में डिप्लोमा 1 वर्ष

डिप्लोमा इन साइन लैंग्वेज इंटरप्रेटर कोर्स 1 वर्ष
श्रवण बाधित व्यक्तियों के लिए कंप्यूटर एप्ली केशन
में सर्टिफिकेट कोर्स 1 वर्ष
आरसी, जनला, ओडिशा में पाठयक्रर

विशेष शिक्षा में डिप्लोमा (डीएचएच) 2 वर्ष
श्रवण, वाक और भाषा में डिप्लोमा 1 वर्ष
शिक्षा स्नातक – विशेष शिक्षा (श्रवण बाधित) 2 वर्ष

यह सभी पाठ्यक्रम सामाजिक कल्याण न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा संचालित है नॉलेज इज द पावर 21वीं सदी का नारा है प्रत्येक दिव्यांग अपने शिक्षा के अधिकार को पहचाने और उससे जुड़ कर लाभ प्राप्त करें और रोजगार प्राप्त करें हमारा उद्देश्य प्रत्येक वर्ष बहुत से स्थान खाली रह जाते इसलिए हमारा अनुरोध है कि दिव्यांग छात्र अपने अधिकार को जाने।

Check Also

आयुष्मान कार्ड नहीं है फिर भी क्या हम मुफ्त इलाज ले सकते हैं।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : आयुष्मान कार्ड जो दिव्यांगों के पास नहीं …