दिव्यांगों का कैसे बन पाएगा क्रेडिट कार्ड

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : इस प्रमुख समस्या के कारण दिव्यांगों का नही बन पाता है यह कार्ड इस कार्ड की सुविधा सिबिल स्कोर 300 से लेकर 900 तक हो सकता है। क्रेडिट स्कोर जितना अधिक होता है, उसे उतना ही बेहतर माना जाता है। एक डिफॉल्ट करने पर भी क्रेडिट स्कोर कमजोर हो सकता है। आम तौर पर 700 से 900 के बीच को बेहतर सिबिल स्कोर माना जाता है। भारत के 80% दिव्यांगों की समस्या यह है की उनके अकाउंट में सिर्फ सामाजिक सुरक्षा पेंशन जो बिहार राज्य में ₹400 झारखंड राज्य ₹1000 उत्तर प्रदेश में ₹1000 दिए जाते हैं और उसकेे अलावा उनकेेे अकाउंट में कोई अन्य पैसा नहीं आता है कई राज्यों में तीन महीनों पर यह पैसे दिए जाते हैं वैसी परिस्थिति यह दिव्यांग ई गवर्नेंस की सरकाार में इस सुविधा का लाभ कैसे उठाएं और कैसे संविधानिक जो नियम बनाए गए हैं जिसमें उनका सर्वांगीण विकास होगा मैं उनका विकास हो सकेगा इस पर सरकार को गहन चिंतन और मनन करके दिव्यांगों को इस सुविधा से जोड़ना चाहिए ताकि देश के दिव्यांगों का सर्वांगीण विकास हो सके जो दिव्यांग अधिनियम 2016 केे तहत जो उन्हें अधिकार भारतीय संविधान में जीने के लिए बनाए गए हैं वह उन्हें मिल पाए भारतीय रिजर्वव बैंक को दिव्यांगों के लिए एक विशेष सर्कुलर बनाना चाहिए जिससे कि वह अपनेेे देश में चलाई जाने वाली योजना का सही मायने में लाभ उठा सकें भारत में 99% दिव्यांगों को इस सुविधा का लाभ नहीं मिल पा रहा है क्योंकि वह इस इस नियम के इस दायरे को पार नहीं कर पाते इसलिए भारत सरकार को इस पर विशेष पहल करनी चाहिए।

Check Also

आयुष्मान कार्ड नहीं है फिर भी क्या हम मुफ्त इलाज ले सकते हैं।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : आयुष्मान कार्ड जो दिव्यांगों के पास नहीं …