दिव्यांग व्यक्ति नहीं हो परेशान अगर आपके रेलवे टिकट में यह कोड लिखा है तो पक्का कंफर्म होगा टिकट

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : दिव्यांग व्यक्ति नही हो विचलित जाने अपने इस अधिकार को भारत में रेलवे की यात्रा हर किसी के लिए सुविधाजनक मानी जाती है. दिहाड़ी मजदूर हो या कोई भी VIP हर कोई रेलवे का सफर अवश्य ही करता है. हर कोई अपने हिसाब से रेलवे की टिकट लेता है और अपने हिसाब से AC या जनरल डिब्बे में सवारी करता है. इस समय अगर आपका टिकट कंफर्म हो जाए तो आपके कोई दिक्कत नहीं होती लेकिन अगर टिकट कंफर्म नहीं हुई तो दिक्कत बहुत ज्यादा बढ़ जाती है.आपने अपनी यात्रा से पहले स्लीपर, 2एस और एसी में टिकट कराया भी होगा। लेकिन आपने कभी गौर किया है कि आरएनडब्ल्यूएल, सीकेडब्ल्यूएल का मतलब आखिर क्या है। भले ही हम इन सब जानकारियों को नजरअंदाज कर देते हैं लेकिन यह सब जानकारियां हमें यह बताते हैं कि हमारी टिकट कंफर्म है या नहीं. तो आइए जानते हैं इन जानकारियों के बारे में पीएनआर इसका मतलब होता है पैसेंजर नेम रिकार्ड। यह रिर्जेवेशन टिकट के लेफ्ट साइड के ऊपर में लिखा होता है। इसमें शुरूआत के एक से नौ अंक बताते हैं कि ट्रेन किस जोन की है। दूसरे अंक संबधित स्टेशन का है जो बताता है कि यात्री कहां से बोर्डिंग करेगा और कहां उसे उतरना है। इसके अलावा सीट संख्या, यात्री की संख्या, पहुंचने वाले स्टेशन का पूरा विवरण रेलवे के पास सुरक्षित रहता है।जीएनडब्ल्यूएल  टिकट में शॉर्ट फॉर्म में लिखे इस शब्द का मतलब होता है जनरल वेटिंग लिस्ट। जब कोई यात्री किसी स्टेशन या आसपास के स्टेशन से यात्रा शुरू करता है कि वेटिंग लिस्ट का यह सबसे सामान्य कोड है। जिसका अर्थ होता है कि ऐसी टिकट जल्द कंफर्म होगी।टीक्यूडब्ल्यूएल वर्ष 2016 से पहले तत्काल कोटा लिस्ट को सीकेडब्ल्यूएल कोड के रूप में जाना जाता है जिसे बदलकर अब टीक्यूडब्ल्यूएल कर दिया गया है। इसका मतलब होता है तत्काल कोटे की वेटिंग लिस्ट। यदि कोई कंफर्म टिकट रद होता है तो ऐसे टिकट वाले को कंफर्म सीट मिलने की पहली प्राथमिकता मिलती है।आरएसी  इसका अर्थ होता है रिर्जेवेशन अगेंस्ट कैंसिलेशन। यानि यात्रा से पहले यदि टिकट कंफर्म नहीं हुआ तो वह खुद ब खुद कैंसिल हो जाएगा और संबधित यात्री का पैसा उसके बैंक खाते में आ जाएगा।पीक्यूडब्ल्यूएल इसका मतलब होता है पूल्ड कोटा वेटिंग लिस्ट। यानि छोटे स्टेशनों के लिए जो कंफर्म सीट का कोटा जारी किया जाता है। उस श्रेणी में उक्त टिकट के कंफर्म होने के लिए किसी भी स्टेशन पर कंफर्म टिकट यदि रद होता है तो पीक्यूडब्ल्यूएल वाले यात्री का टिकट कंफर्म हो जाता है।

Check Also

आयुष्मान कार्ड नहीं है फिर भी क्या हम मुफ्त इलाज ले सकते हैं।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : आयुष्मान कार्ड जो दिव्यांगों के पास नहीं …