दिव्यांगों को मिलेगा विशेष सौगात सभी दिव्यांगों का बनेगा एक खास कार्ड

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दिव्यांगों के लिए कहा कि कुदरत ने कुछ कमी दी है, तो कुछ योग्यता भी दी है। इन्हें विशेष पहचान पत्र देने के बारे में सरकार काम कर रही है। रीट परीक्षा में विशेष योग्यजन के लिए ज्यादा पैड किए जाएंगे। गहलोत ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री टीकाराम जूली को निर्देश दिए दूसरे राज्यो में दिव्यांगों के लिए योजनाओं का अध्ययन करें ताकि प्रदेश में भी अच्छी योजनाओं को लागू किया जा सके। बजट में भी दिव्यांगों की ज्यादा भागीदारी रहेगी।गहलोत शनिवार को जोधपुर में गांधी बधिर कॉलेज का शुभारंभ करने के बाद समारोह को वर्चुअल संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि समारोह में भागीदार बनकर मुझे खुशी हो रही है, 40 साल पहले 2 स्टूडेंट्स से स्कूल शुरू किया गया था, यह मामूली स्कूल या कॉलेज नहीं है, यहां पर काम करना बहुत चुनौतिपूर्ण होता है। गहलोत ने कहा कि मुझे इस स्कूल के विकास के लिए बार-बार CM बनना पड़ता है पहले 2 कार्यकाल में स्कूल बना व क्रमोन्नत हुआ, इस बार तीसरे कार्यकाल में स्कूल को कॉलेज बना दिया गया है, अब इसे विश्वविद्यालय बनाने के लिए फिर मुझे सीएम बनना होगा। जोधपुर की माटी में सेवाभाव लिखा हुआ है। कोरोनाकाल में मैंने सभी के सहयोग से काम किया । प्रदेश में किसी को भूखा नहीं सोने दिया। दुनिया में भीलवाड़ा मॉडल की तारीफ हुई। मास्क व वैक्सीन हमे बचाएगा। यही कारण है खूब केस आ रहे, लेकिन अस्पताल खाली पड़े रहे। जिन्होंने वैक्सीन नहीं लगाई, उनको तकलीफ हो रही है। सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग मंत्री टीकाराम जूली ने  संबोधित करते हुए कहा कि ‘जन्म से लेकर मृत्यु तक के हर सोपान के वक्त CM सभी के साथ रहते हैं।

Check Also

आयुष्मान कार्ड नहीं है फिर भी क्या हम मुफ्त इलाज ले सकते हैं।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : आयुष्मान कार्ड जो दिव्यांगों के पास नहीं …