दिव्यांगों का विदेश में रहने एवं नौकरी का सपना होगा साकार इसे भारत का दिव्यांग पढ़ लीजिए एक बार।

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : दिव्यांग व्यक्ति वीजा के तहत 3 माह तक अपना जॉब का अप्लाई विदेश में रहकर कर सकते हैं दूसरा कि भारत का डॉक्यूमेंट या दस्तावेज मैट्रिक इंटर ग्रेजुएशन या अन्य कोई डिग्री हो इस प्रकार से वैलिड होगा सबसे पहले विदेश यात्रा करने वाले छात्र एवं छात्राओं को अपने गृह क्षेत्र के ब्लॉक में जाकर या तहसील में जाकर लॉटरी से सभी डॉक्यूमेंट को सत्यापित करवाना होगा उसके बाद उसी डॉक्यूमेंट को जिला के एसडीएम से साइन मोहर करवाना होगा उसके बाद उस डॉक्यूमेंट को भारत सरकार के विदेश मंत्रालय में जाकर सभी डॉक्यूमेंट को साइन मोहर करवाना होगा उसके बाद सबसे अंत में जो दुबई का एंबेसी है जो दिल्ली मुंबई एवं केरला में है वहां अपने डॉक्यूमेंट को सत्यापित और मोहर करवाना होगा तब वह डॉक्यूमेंट दुबई में माननीय माना जाएगा और अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस 3 दिसंबर के दिन से छात्र विदेश की यात्रा और नौकरी कर पाएंगे अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस पर भारत के प्रत्येक दिव्यांग का सपना होगा साकार इस नियम को अपनाकर।

Check Also

हीमोफीलिया बीमारी से क्या होता है।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज सौरभ कुमर : बिहार में विश्व हीमोफीलिया दिवस मनाया जाता …