दिव्यांगों को विवाह करने पर मिलेगी नई अनुदान राशि

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : सीएम अशोक गहलोत की सरकार ने अनूठी पहल की है। सरकार ने प्रेमी जोड़ों के प्रेम विवाह को सरल बनाने और राज्य के विशेष योग्यजन को बड़ी राहत पहुंचाने के लिए नई घोषणा की है। अब राज्य में 80 प्रतिशत दिव्यांग विशेष योग्यजन को जीवनसाथी बनाने पर कांग्रेस सरकार की तरफ से सौगात दी जाएगी। सरकार ने ऐसे जोड़े को 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है।सरकार ने अन्तरजातीय विवाह के लिए दी जाने वाली आर्थिक सहायता राशि को भी 5 लाख रुपए से बढ़ाकर 10 लाख रुपए कर दी है। मुख्यमंत्री गहलोत ने सामूहिक विवाह सम्मेलन को बढ़ावा देने की भी कोशिश की है। उन्होंने सामूहिक विवाह अनुदान योजना में देय अनुदान राशि को 18 हजार रुपए से बढ़ाकर 25 हजार रुपए प्रति जोड़ा किया है। सामूहिक विवाह आयोजन में विभिन्न समाज, जाति एवं धर्म के परिवार सम्मिलित होकर अनेकता में एकता की भावना को साकार कर कम से कम 25 जोड़ों का विवाह करेंगे तो आयोजन के लिए 10 लाख रुपए की अतिरिक्त सहायता दी जाएगी। आपको बता दें कि राजस्थान में इसी वर्ष विधानसभा चुनाव (Assembly Election) होने हैं। यहां लंबे समय से हर 5 वर्ष पश्चात् सत्ता परिवर्तन की परंपरा चली आ रही है। मगर इस बार कांग्रेस (Congress) चाहती है कि बरसों पुरानी परंपरा को तोड़कर एक बार फिर सूबे की सत्ता में वापसी कर सके। इसके लिए सीएम और उनकी पूरी कांग्रेस पार्टी हर संभव जतन कर रही है। हाल ही मुख्यमंत्री गहलोत ने बजट में हर वर्ग को राहत पहुंचाने की कोशिश की है। सभी वर्गों को ध्यान में रखकर बजट ऐलान किए हैं।

Check Also

दिव्यांग पति नहीं देगा अपनी अलग रहने वाली पत्नी को गुजारा भत्ता।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कमार : कर्नाटक उच्च न्यायालय ने निचली अदालत के …