दिव्यांग बैटरी युक्त साइकिल में खुलेआम हो रहा भ्रष्टाचार।

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : भारत में दिव्यांगों को बैटरी चालित साइकिल प्रदान करवाना है लेकिन बहुत सारे ऐसे दिव्यांग है जो हमेशा यह पूछते रहते हैं कि भ्रष्टाचार कहां है भ्रष्टाचार कहीं दिखता नहीं सर भ्रष्टाचार बताइए उन्हें बताना चाहेंगे की बैटरी चालित साइकिल के साथ-साथ दिव्यांगों को हेलमेट आई एस आई मार्क प्रदान बाला प्रदान किया जाता है जिससे कि यात्रा करते समय उनका मस्तिष्क सुरक्षित बचा रहे और जितना भी चीज दिव्यांगों को प्रदान किया जाता है उसकी सूची भारत सरकार को दी जाती है और भारत सरकार को जो लिस्ट प्रदान किया जाता है उसमें गुणवत्तापर्ण 3000 से 4000 रुपए का हेलमेट प्रदान करवाने की बात कही जाती है लेकिन बिहार एवं अन्य ऐसे बहुत प्रांत है राज्य है भारत में जहां यह हेलमेट प्रदान नहीं किया जाता है और इसके पैसे को भ्रष्टाचार का भेंट चढ़ा दिया जाता है तो जो व्यक्ति यह कहते हैं भ्रष्टाचार कहां है उन्हें बताना चाहेंगे कि भ्रष्टाचार आपकी आंख के सामने आपकी योजनाओं में प्रत्यक्ष रूप से किया जा रहा है वह भी वैसे व्यक्ति जिन्हें सुरक्षा का और सहारे की अत्यंत आवश्यक है उन्हें यह सहाड़ा प्रदान नहीं कर रहे हैं प्रत्यक्ष को प्रमाण की आवश्यकता नहीं होती है समाज कितना नीचे स्तर तक गिर चुका है की दिव्यांग की योजनाओं को भ्रष्टाचार का भेंट चढ़ाते हुए उन्हें शर्म नहीं आती है।

 

Check Also

हीमोफीलिया बीमारी से क्या होता है।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज सौरभ कुमर : बिहार में विश्व हीमोफीलिया दिवस मनाया जाता …