दिव्यांगों के बहाली के लिए नया नियम जिसे पालन करना होगा प्रत्येक दिव्यांग को।

सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : हरियाणा सरकार ने ग्रुप सी और ग्रुप डी के पर भर्तियां के लिए कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट लागू किया था. जिसके तहत ग्रुप सी के पदों के लिए Pre परीक्षा आयोजित की गई थी जिसका परिणाम घोषित किया जा चुका है. फिलहाल सरकार ग्रुप सी पदों के लिए Mains परीक्षा आयोजित करवाने की तैयारी में है. आयोंग को कारणवश बार बार HSSC CET मेंस की एग्जाम तारीख बदलनी पड़ रही है. हरियाणा सरकार परीक्षा को बिना किसी फर्जीवाड़े के पूरा करवाना करवाना चाहती है, जिसके चलते सरकार में कुछ महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं. CET भर्ती में दिव्यांग प्रमाण पत्र के नाम पर हो रहे फर्जीवाड़े को रोकने के लिए HSSC ने फुल Proof प्लान तैयार किया है.आयोग दिव्यांगजनो के प्रमाण पत्रों के रि-असेसमेंट करवाएगा. यदि दिव्यांगता प्रमाण पत्र में कोई कमी छोड़ दी जाती है तो उसकी अपील पंचकूला मुख्यालय में की जाएगी, जिसमें 3 डॉक्टरों का पैनल उसका रि-असेसमेंट करेगा. HSSC के चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी ने जानकारी देते हुए बताया कि CET के माध्यम से होने वाली Group-C और Group-D की भर्तियों में दिव्यांगों को पूरा कोटा दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि सरकार दिव्यांगों के साथ कोई अन्याय नहीं होने देगी. HSSC के चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी ने बताया कि सरकार दिव्यांगों को उनके अधिकारों से वंचित नहीं रहने देगी. नौकरियों में भी सरकार दिव्यांगों को बैकलॉग प्रदान कर रही है. ग्रुप सी की भर्तियों का रिवाइज्ड Result जारी किया जा चुका है. रिवाइज्ड रिजल्ट बहुत सारी खामियां पाई गई है. कुछ विद्यार्थी ऐसे भी हैं जिन्होंने सामाजिक आर्थिक मानदंड वाले 5 अंक वापस लिए थे परंतु रिवाइज्ड रिजल्ट अंक हटने की बजाय फिर से एक्स्ट्रा अंको के साथ ही जारी किया गया है. EWS और एक्स सर्विसमैन से अप्लाई करने वाले उम्मीदवारों को सामान्य श्रेणी में दिखाया गया है.HSSC चेयरमैन का कहना है कि अभ्यर्थियों में फॉर्म अप्लाई करते समय ही Mistake की हुई है. जिस वजह से रिवाइज्ड रिजल्ट में दिक्कतें आ रही है. इन सभी त्रुटियों को दूर करने के बाद रिवाइज्ड रिजल्ट सहित ग्रुप वाइज कटऑफ भी जारी की जाएगी. HSSC आयोग के चेयरमैन ने अधिकारियों से सतर्कता बरतते हुए रिजल्ट बड़ी सावधानी और गंभीरता के साथ जारी करने के आदेश दिए. उन्होंने कहा कि सरकार हमेशा से ही दिव्यांगों के प्रति सहानुभूति रखती आई है. ऐसे में अब दिव्यांगों के साथ कोई भेदभाव नहीं होने दिया जाएगा.

Check Also

आयुष्मान कार्ड नहीं है फिर भी क्या हम मुफ्त इलाज ले सकते हैं।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : आयुष्मान कार्ड जो दिव्यांगों के पास नहीं …