JEE MAIN-2020 परीक्षा में दिव्यांगों को मिलेगा अतिरिक्त समय

जेईई मेन-2020 परीक्षा (जनवरी) में पहली बार दिव्यांगजनों को अनुपूरक समय भी मिलेगा. 40 फीसदी या उससे अधिक वाले सभी दिव्यांगजन अनुपूरक समय की मांग कर सकते हैं. पिछले साल तक सहायक रखने वाले दिव्यांगों को ही अनुपूरक समय मिलता था. खास बात यह है दिव्यांगजन में तेजाब पीड़िता भी शामिल हैं. एनटीए प्रबंधन के मुताबिक, केंद्र सरकार ने राइट ऑफ पर्सन विद डिसेबिलिटी 2016 (नि:शक्त व्यक्ति अधिकार अधिनियम) के तहत दिव्यांगजनों को दी जाने वाली सुविधाओं में बदलाव किया गया था. इसी के तहत जेईई मेन-2020 जनवरी परीक्षा से दिव्यांगजनों को अनुपूरक समय दिया जा रहा है. सहायक रखने और नहीं रखने वाले 40 फीसदी से अधिक दिव्यांगजनों को अनुपूरक समय मिलेगा.

IPL स्पॉट फिक्सिंग याचिकाकर्ता आदित्य वर्मा के बेटे को बिहार रणजी टीम में मिली जगह

कुल दो घंटे का मिलेगा अनुपूरक समय
जेईई मेन-2020 की परीक्षा में कुल दो पेपर होंगे. प्रति पेपर तीन-तीन घंटे का है. दिव्यांगों को तीन घंटे के पेपर में कुल एक घंटा और दूसरे तीन घंटे के पेपर में एक घंटा अनुपूरक समय मिलेगा. इस प्रकार दिव्यांगजनों को कुल दो घंटे का अनुपूरक समय दिया जाएगा.
गलत जानकारी पर रद्द होगा दाखिला वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, ऑनलाइन आवेदन पत्र में अनुपूरक समय की मांग करने वाले छात्रों को ही यह सुविधा मिलेगी. यदि कोई छात्र-छात्रा आवेदन पत्र में गलत जानकारी देता है और दाखिले के दौरान जानकारी गलत निकलती है तो ऐसे आवेदक का दाखिला रद्द कर दिया जाएगा.

जेईई मेन-2020 : पांच प्रश्नों के उत्तर का नहीं मिलेगा विकल्प
आईआईटी, इंजीनियरिंग, आर्किटेक्चर और प्लानिंग में दाखिले के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा जेईई मेन-2020 बदले पैटर्न के साथ छह से नौ जनवरी तक दो-दो शिफ्टों में कंप्यूटर आधारित होगी. प्रश्नों में बदलाव के साथ पहली बार आर्किटेक्चर और प्लानिंग के प्रश्न पत्र अलग-अलग होंगे. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने परीक्षा को लेकर तैयारी पूरी कर ली हैं. 35 छात्रों पर एक जैमर होगा. परीक्षा में मोबाइल, ब्लूटूथ व इलेक्ट्रिानिक डिवाइस लाने पर रोक रहेगी.

खुशखबरी पायलट लाइसेंस के लिए दफ्तरों का चक्कर काटना होगा बंद सरकार ने की पहल

एनटीए प्रबंधन के मुताबिक, जेईई मेन की परीक्षा में अभी तक प्लानिंग और आर्किटेक्चर की पढ़ाई करने वाले छात्रों को पेपर दो में एक ही प्रश्न पत्र होता था. हालांकि, जेईई-2020 में आर्किटेक्चर और प्लानिंग का प्रश्न पत्र अलग-अलग होगा. आर्किटेक्चर की पढ़ाई करने वाले छात्रों को 12वीं कक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री व मैथ्स विषयों की पढ़ाई जरूरी है, जबकि प्लानिंग में सिर्फ मैथ्स की अनिवार्यता है. पेपर दो में आर्किटेक्चर की पढ़ाई करने वाले छात्रों का प्रश्न पत्र फिजिक्स, केमिस्ट्री व मैथ्स पर आधारित रहेगा, जबकि बी प्लानिंग के छात्रों का प्रश्न पत्र मैथ्स, एप्टीट्यूड व प्लानिंग विषय पर आधारित होगा.

क्या रेलवे में शामिल (ज्वाइन) होते समय, हमसे किसी प्रकार का अनुबंध साइन करवाया जाता है?

इसके अलावा अभी तक जेईई मेन पेपर एक में सभी प्रश्न बहुविकल्पीय होते थे. प्रति प्रश्न के आगे चार उत्तर लिखे होते थे. जनवरी 2020 में आयोजित होने वाली जेईई मेन परीक्षा के पांच प्रश्नों में बदलाव किया गया है. यह पांच प्रश्न बहुविकल्पीय नहीं होंगे. छात्रों को प्रश्न के आधार पर स्वयं उत्तर लिखना होगा. सही उत्तर पर चार अंक मिलेंगे और गलत उत्तर लिखने पर एक अंक कट जाएगा.

Check Also

दिव्यांग पति नहीं देगा अपनी अलग रहने वाली पत्नी को गुजारा भत्ता।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कमार : कर्नाटक उच्च न्यायालय ने निचली अदालत के …