Bihar STET 2020: एसटीईटी परीक्षा में दिव्यांगों को मिलेगी यह खास सुविधा, जान ले अनिवार्य नियम

Bihar STET 2020: बिहार बोर्ड की ओर से माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (एसटीईटी) 2019 का आयोजन 28 जनवरी को दो पालियों में किया जाएगा. पहली पाली सुबह 10 बजे से 12.30 बजे तक तथा दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर 2 बजे से 4.30 बजे तक आयोजित होगी. एक केंद्र के हर कमरे में जैमर और सीसी टीवी कैमरा लगा रहेगा. एक बेंच पर दो परीक्षार्थियों को बैठाया जाना है। परीक्षा में 150-150 अंकों के बहुवैकल्पिक प्रश्न पूछे जाएंगे. परीक्षा ओएमआर शीट पर ली जाएगी.
 परीक्षार्थियों को परीक्षा देने के लिए चप्पल पहनकर आना पड़ेगा: – जूता-मोजा, घड़ी पहनकर आने के बाद परीक्षा कक्ष में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी. बोर्ड ने केंद्राधीक्षकों को इस संबंध में सख्त निर्देश दिया है. सर्दी के मौसम के कारण कई लेयर में कपड़े पहनकर आ सकते हैं, इसकी बारीकी से जांच की जाएगी.
– शिक्षक परीक्षार्थियों की तलाशी परीक्षा भवन के गेट के अंदर एवं परीक्षा कक्ष के बाहर करेंगे. वीक्षक यह घोषणा पत्र भी देंगे कि परीक्षार्थी की तलाशी ले ली गई है और उनके पास घड़ी, मोबाइल, इलेक्ट्रोनिक गैजेट इत्यादि नहीं हैं.

VIDEO: तिरंगा फहराने को लेकर भिड़े कांग्रेसी नेता, जमकर मारपीट

– किसी भी परिस्थिति में परीक्षार्थी को घड़ी, बैग, पर्स इत्यादि लेकर परीक्षा कक्ष में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी.
– लाउडस्पीकर की व्यवस्था कर अनाउंसमेंट करने का निर्देश भी दिया गया है.
– एसटीईटी में ओएमआर शीट पर परीक्षार्थियों का नाम, पिता का नाम, अनुक्रमांक, परीक्षा की तिथि, जन्मतिथि, कोटि, लिंग, विषय कोड, विषय एवं फोटो इत्यादि का विवरण पहले से ही प्रिंटेड रहेगा. इसलिए केंद्राधीक्षकों को कहा गया है कि परीक्षार्थियों की पहचान कर ही उन्हें ओएमआर शीट उपलब्ध कराएं. किसी भी परिस्थिति में अनुक्रमांक, मुद्रित ओएमआर शीट किसी अन्य परीक्षार्थी को न दिया जाए. अगर ओएमआर शीट पर नाम-क्रमांक गलत मुद्रित हुआ हो तो ऐसी स्थिति में परीक्षार्थी को नॉन स्टैंडर्ड ओएमआर शीट उपलब्ध करायी जाएगी, इसके बाद सभी सूचनाएं उन्हें भरनी होंगी. त्रुटिपूर्ण OMR को बोर्ड को अलग से भेजना होगा.

गांधी मैदान में भावुक हुए राज्यपाल फागू चौहान, दिखें आंसू पोछते

– प्रश्न पत्र परीक्षा शुरू होने से 10 मिनट पहले दंडाधिकारी की उपस्थिति में खोला जाएगा. प्रश्न पत्र खोलते समय केंद्राधीक्षक एवं दंडाधिकारी का हस्ताक्षर व समय दर्ज होगा. प्रत्येक कक्ष में प्रश्न पत्र जवाबदेह वीक्षक के माध्यम से परीक्षा शुरू होने के 10 मिनट पहले भेजा जाएगा. परीक्षा में मैनुअल उपस्थिति के अतिरिक्त बायोमीट्रिक हाजिरी भी ली जाएगी. परीक्षा के समय फोटोग्राफ भी लिया जाएगा. परीक्षा में दिव्यांग अभ्यर्थी जो लिखने-पढ़ने में सक्षम नहीं हैं, उनके लिए डीईओ के नियम के अनुसार लेखक उपलब्ध कराया जाएगा. ऐसे अभ्यर्थियों को प्रति घंटा 10 मिनट अधिक समय दिया जाएगा. यानी 25 मिनट अतिरिक्त समय दिया जाएगा.
— एसटीईटी के सभी केंद्रों पर कंप्यूटर लगायें जायेंगे। परीक्षा के दौरान अभ्यर्थी का फोटो खींचा जायेगा. फोटो लेने का काम एजेंसी को दिया गया है. परीक्षा समाप्त होने के बाद सभी अभ्यर्थी का फोटो और बायोमीट्रिक उपस्थिति को तुरंत केंद्र से बोर्ड के पास भेजा जायेगा.-
— जिन केंद्रों पर दिव्यांग छात्र होंगे. वहां पर दिव्यांग छात्रों के लिए नीचे वाले कक्षा में ही परीक्षा का इंतजाम किया जायेगा. बोड की मानें तो दिव्यांग छात्रों को प्रति घंटा दस मिनट यानी पूरे परीक्षा के दौरान 25 मिनट अधिक समय दिया जायेगा. वैसे दिव्यांग छात्र जिन्हें लिखने में दिक्कतें होगी उन्हें संबंधित जिला के डीईओ से राइटर की सुविधा दी जायेगी. राइटर 10वीं के ही विद्यार्थी होंगे.
इन चीजों पर रहेगी पाबंदी-
– घड़ी, बैग, पर्स, मोबाइल और किसी तरह के इलेक्ट्रॉनिक गजट आदि के साथ प्रवेश की अनुमति नहीं होगी ।
-किसी तरह के अवांछित कागजात के साथ प्रवेश नहीं करें ।
– प्रवेश पत्र और उपस्थिति पत्रक में स्कैंड फोटो से परीक्षार्थी की पहचान करेंगे।
– परीक्षा शुरू होने के एक घंटे बाद ही शौचालय आदि के लिए कक्षा से निकलने की अनुमति दी जायेगी।
– नीले और काले बॉल पेन से ही ओएमआर भरे जायेंगे।
परीक्षा का शेड्यूल
पेपर 1 पहली पाली: हिंदी, उर्दू, संस्कृत, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान
पेपर-2 , दूसरी पाली: अंग्रेजी, गणित, भौतिकी, रसायनशास्त्र, प्राणी शास्त्र, वनस्पति शास्त्र, कंप्यूटर साइंस, मैथिली

INDvsNZ 2nd T20I: टीम इंडिया ने दर्ज की दूसरी जीत

Check Also

आयुष्मान कार्ड नहीं है फिर भी क्या हम मुफ्त इलाज ले सकते हैं।

🔊 Listen to this सर्वप्रथम न्यूज़ सौरभ कुमार : आयुष्मान कार्ड जो दिव्यांगों के पास नहीं …